Sukanya Samriddhi Yojana : बेटी की पढ़ाई एवं शादी के खर्च की चिंता पिता के लिए हुई खत्म, अब सरकार देगी 21 साल की उम्र में 44 लाख रुपए

Sukanya Samriddhi Yojana : भारत सरकार द्वारा बालिकाओं के लिए सुकन्या समृद्धि योजना कुछ शुरू किया गया है। यह एक बचत योजना है। बेटी बचाओ तथा बेटी पढ़ाओ से प्रेरित योजना है। इस योजना के लाभ से अब गरीब माता-पिता को अपनी बेटी की पढ़ाई एवं शादी की चिंता नहीं रहेगी क्योंकि सरकार द्वारा बेटी के 18 साल या 21 साल के होने पर अभिभावक द्वारा किया गया निवेश पर लगभग 44 लाख रुपए मिलेंगे। सुकन्या समृद्धि योजना का अकाउंट आप किसी भी बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस में खुलवा सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना को आप बालिका के 10 वर्ष की उम्र से पहले कभी भी खुलवा सकते हैं। योजना के तहत न्यूनतम निवेश ₹250 तथा अधिकतम निवेश 1.5 लाख रुपए है। इस योजना के तहत बेटी के माता-पिता को महीने अथवा वार्षिक आधार पर निवेश करना होगा। बालिका के 18 साल अथवा 21 साल पूर्ण होने पर योजना के मैच्योर होने पर 44 लाख रुपए तक प्राप्त हो सकते हैं। इसके लिए आपको वार्षिक निवेश ₹250 से लेकर 1 लाख रुपए 15 साल तक करना होगा।

इसे भी पढ़ें- सीनियर सिटीजन कार्ड ऑनलाइन कैसे बनवाएं, जानिए वरिष्ठ नागरिकों को मिलने वाली सुविधाएं और फायदे

सुकन्या समृद्धि योजना में आवेदन के लिए आप पोस्ट ऑफिस अथवा बैंक जा सकते हैं तथा वहां से पूरी जानकारी ले सकते हैं। इस योजना के तहत 8% वार्षिक ब्याज दिया जाता है। यह कंपाउंड ब्याज होता है। समृद्धि योजना में किए गए निवेश पर धारा 80 सी के तहत टैक्स में छूट भी मिलती है। इस योजना में अधिकतम परिवार की दो बेटियां भी लाभ उठा सकती हैं। इस योजना के खाते को आप किसी भी बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर कर सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं

  • सुकन्या समृद्धि योजना के खातों को समय से पहले बंद भी करवाया जा सकता है।
  • अगर योजना में निवेश की राशि अथवा किस्त किसी बस जमा नहीं हो पाती है तो चिंता ना करें आप ₹50 जुर्माने के साथ किस्त जमा कर सकते हैं।
  • अगर खाताधारक की अचानक मृत्यु हो जाए तो शेष राशि उसके सामने के खाते में ट्रांसफर हो जाएगी।
  • लड़की के 18 वर्ष अथवा दसवीं पास करने पर उसकी पढ़ाई के लिए अकाउंट से 50 वर्ष तक पैसा निकाला जा सकता है। योजना में आपको निवेश अधिकतम 15 साल तक रहा होगा।

सुकन्या समृद्धि योजना के लाभ के लिए जरूरी दस्तावेज

  • बालिका जन्म प्रमाण पत्र
  • खाताधारक का जन्म प्रमाण पत्र
  • माता-पिता का आईडी प्रूफ जैसे ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, राशन कार्ड, पहचान पत्र, आधार कार्ड
  • माता-पिता का निवास प्रमाण पत्र एवं आय प्रमाण पत्र

सुकन्या समृद्धि योजना में आवेदन फार्म कैसे भरें अथवा रजिस्ट्रेशन कैसे करें

  • सुकन्या समृद्धि योजना में आवेदन फार्म भरने के लिए आपको अपने नजदीकी बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस जाना होगा। वहां आप पालिका के नाम खाता खुलवाएं।
  • बैंक से सुकन्या समृद्धि योजना फार्म ले, नॉमिनी का नाम जरूर करें।
  • अपने सुकन्या समृद्धि फार्म में पूछी के सभी जानकारियां सावधानीपूर्वक भरे, तथा महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अटैच करें।
  • अंत में फार्म कंप्लीट करने के बाद कहीं बैंक में से जमा कर दें। इस तरह का सुकन्या समृद्धि योजना फार्म कंप्लीट हो जाएगा।

सुकन्या समृद्धि योजना में पैसों की गणना कैसे करें

सुकन्या समृद्धि योजना में हम रुपए की गणना एक उदाहरण से समझ सकते हैं और देखते हैं कि 15 साल में कितना पैसा मिलेगा। मान लेते हैं कि बच्ची का जन्म 2015 में हुआ है और माता-पिता उसे साल बेटी का अकाउंट सुकन्या समृद्धि योजना में करा देते हैं। अब यह अकाउंट 21 साल की उम्र में मैच्योर होगा तो 21 साल की उम्र में बालिकाओं को कितना रुपए मिलेगा।

  • कुल वार्षिक निवेश – 1 लाख रुपए
  • निवेश की अवधि -15 वर्ष
  • 15 वर्षों में माता-पिता द्वारा किया गया कुल निवेश -15 लाख
  • वार्षिक ब्याज दर- 7.6% (average)
  • टोटल ब्याज 21 साल में – 3.10 lakh रुपए लगभग
  • 21 साल कुल मैच्योरिटी – 44 लाख रुपए लगभग (2031में )

निष्कर्ष

सुकन्या समृद्धि योजना गरीब तथा मध्यम वर्ग माता-पिता के लिए आर्थिक और का काफी सहायता करेगी। इस योजना में निवेश से लड़की के माता-पिता को उसके साथी पढ़ाई लिखाई तथा अन्य खर्चों की चिंता बिल्कुल नहीं रहेगी। तो देर किस बात की बैंक जाइए और बेटी का खाता खुलवा आइए और हां ध्यान रहे नीचे दिए गए व्हाट्सएप ग्रुप तथा टेलीग्राम ग्रुप लिंक को जरूर ज्वाइन करें क्योंकि इन ग्रुप्स में सुकन्या समृद्धि योजना से संबंधित और भी बातें बताई जाएगी।

इसे भी पढ़ें- मोदी सरकार ने लांच किया किसान मोबाइल ऐप, अब घर बैठे बिना OTP के आसानी से करें e-kyc

Leave a Comment